SUBODHA

Just another Jagranjunction Blogs weblog

241 Posts

2221 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 18093 postid : 1113480

"मीडिआ से सावधान"

Posted On: 6 Nov, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आजकल जो कुछ देश और मीडिआ जगत में चल रहा है ,वह बहुत शर्मशार है | अभी हाल में एक न्यूज़ निकली -मध्य प्रदेश की एक महिला ने भिखारी बच्चे के लात मार दी ,दुसरे दिन आज तक वालों ने सफाई दी ,वह बनावटी न्यूज़ थी | बच्चे को जानबूझकर ऐसा कहने को कहा गया | जिसने ऐसा करने को कहा ,वह आज तक में जॉब करता था ,उसको आज तक वालों ने निकाल दिया | इसलिए देश के बुद्धिजीवियों से अनुरोध है ,मीडिआ की बात पर जयादा विश्वास मत करें ,शांति से जिए और जीने दें और सरकार को भी अपना काम करने दे |
सम्मान का मिलना बहुत आसान है पर उसको पचाना सबके बस का काम नहीं ,इसलिए जो इज़्ज़त पिछली सरकार के भरोसे मिल गयी ,उसे सहेज़कर रखो ,बापस करोगे तो जो मिला वह भी चला जाएगा और अंत में बिलकुल मूल्यहीन हो जाओगे |
पिछली सरकार के समय को देखो ,आये दिन भारत के मध्य शहरों में बम धमाके होते थे ,हर धमाके में २-४ -१० मरते थे ,अब थोड़ी शांति है ,अतः प्लीज ऐसी शांति बनी रहे ,ऐसी कृपा बनाये रखो ,राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का दंड आत्मरक्षा के लिए है ,किसी दूसरे को मारने के लिए नहीं | ज्यादा जानकारी के लिए गिरिधर (महान बुद्धिजीवी ) जी की कुंडली पढ़िए -”लाठी में गुण बहुत हैं,सदा रखिये संग ,जहाँ नदी -नाला परत तहाँ बचावत अंग ” और वैसे भी आजकल देश के कलाकार ,बम धमाकों से भी ज्यादा भयानक बयानवाजी कर रहे हैं |
||जय भारत माता ||

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

5 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rameshagarwal के द्वारा
November 7, 2015

जय श्री राम दुबेजी इंग्लिश मीडिया और कुछ टीवी चैनेल मोदीजी की सरकार के विरोध में लगे है दादरी के घटना को एक महीने तक चला कर वातावरण दूषित कर दिया प्रशांत पुजारी का समाचार नहीं दिया INTOLERANCE असम,बंगाल,केरला उत्तर प्रदेश और कर्णाटक में है.मोदीजी को विश्व में सबसे प्रभावशाली लोगो में ९ वा स्थान मिला मीडिया ने नहीं दिखाया,बहुत सटीक लेख.

pkdubey के द्वारा
November 7, 2015

jay shri raam sir ji,aajkal media bhut galat bhoomikaa me hai,har khabar ko ek azoobaa banaakar pesh karnaa,tathyon ko apne andaz me pesh karnaa,ek khabar failne ke baad ,uskaa aslee sach kyaa hai ,us kaa pataa jantaa ko nahee chaltaa aur bharat jaise desh me jahan har insaan sabse pahlaa kaam -khabar padhne kaa kartaa hai,uske man me ek bhoomikaa ban jaatee hai,aise khabar failtee jaise -modi ,koi insaan nahee ,bhut katil aadmee hai,abhee bjp ke parshad kee varanasi me hatyaa huyee,uskee khabar na jane kahan chalee gayee.abhee to bihar kaa result bhee nahee aayaa aur lalu mahoday bol rhe-savarn bhothar ho gayaa thaa,agar jeet gaye to doosre din se hee inke log rahjanee,murder,firautee kaa kaam chaloo kar denge.

Jitendra Mathur के द्वारा
December 14, 2015

एकदम सटीक और दो टूक विचार हैं दुबे जी आपके । पूरी तरह सहमत हूँ मैं । मीडिया की ग़ैरज़िम्मेदारी बढ़ती ही जा रही है । अपनी टी.आर.पी. और व्यावसायिक हितों के आगे इन्हें सब कुछ गौण नज़र आता है ।

pkdubey के द्वारा
December 15, 2015

sadar sadhuvaad bhaisahab.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran