SUBODHA

Just another Jagranjunction Blogs weblog

241 Posts

2221 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 18093 postid : 802103

"सफाई की सच्चाई"

Posted On: 11 Nov, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

“स्वच्छता में ही देवत्व का निवास है”-किसी महान विचारक का कथन है | स्वच्छ भारत अभियान हमारे प्रधानमंत्री जी की एक महान और अच्छी कोशिश को , भले ही उनकी ही पार्टी के कुछ नेता दिल्ली में ही,अपने कर्मो से मज़ाक बना दे ,पर प्रधानमंत्री जी इस अभियान के प्रति कितने गंभीर हैं,यह दूसरे ही दिन वह अपने कार्यक्रम के दौरान अस्सी घाट पर सफाई कर के दिखा देते हैं |
लगभग २ वर्ष पूर्व मुंबई मिरर नामक समाचार पत्र में मैंने एक न्यूज़ पढ़ी थी,हमारे देश के एक प्रशासनिक अधिकारी,अपना कार्यालय प्रतिदिन स्वयं ही साफ़ करते हैं | मेरा ऐसा विचार है – इस देश से P.A. और  PEON की सभ्यता का अंत होना चाहिए | पानी लाओ ,चाय पिलाओ ,यह सब वकवास है| हर इंसान अपने -अपने स्तर से आर्थिक और बौद्धिक विकास करे,और समाज एवं देश के उत्थान में सहयोग करे ,यह अधिक आवश्यक है |
परचर्चा करना हमारी मानसिकता है,इस देश का आम या खास नागरिक,MEDIA OR MIDDLE MAN  चर्चा करने के बहुत अभ्यस्त हैं | सुबह उठकर और रात्रि में सोने से पूर्व हमें यह जानना होता है -मोदी ने क्या कहा,उद्धव ने क्या कहा ,रामदास आठवले ने क्या कहा,शरद पवार ने क्या कहा,मुलायम ,मायावती ,नितीश आदि ने क्या कहा और शायद यही इस देश के लोकतंत्र के मज़बूत होने की बहुत अच्छी वजह भी है | पर इतनी चर्चा -परिचर्चा के बावजूद भी हम अपने आप को बदल नहीं रहे, यह भी चिंतनीय विषय है |
इस देश के महानगरों का ऑटो ,टैक्सी ड्राइवर का गुट सवारी के इन्तजार में खड़े रहकर,स्वच्छ भारत अभियान की खबर को पढ़ते हुए,यह तो कहेगा -मोदी अच्छा काम कर रहे हैं ,पर अपनी पॉकेट से गुटखा निकालकर ,उसका पाउच सड़क पर फेंकते हुए और कुछ समय बाद अपनी पीक को भी वही थूंकते हुए अपने आप पर शर्म महसूस नहीं करेगा ,यही इस देश का दुर्भाग्य है |
और जब तक इस देश का आम नागरिक अपनी जीवन शैली और आचरण नहीं बदलेगा ,तब तक देश नहीं सुधरेगा |



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

deepak pande के द्वारा
November 12, 2014

Sahi kaha dubey jee hum sabko safai ka poora khyal rakhna hoga aaj bhee sarkari building ki har deewar par paan ki peek najar aati hai

pkdubey के द्वारा
November 12, 2014

sadar sadhuvaad aadarneey.

shakuntlamishra के द्वारा
November 13, 2014

यह एक दुखद सत्य है हम किसी भी मामले में खुद को नहीं देखते है !अमुक अच्छा है ,अमुक बुरा है हम क्या है कोई नहीं सोचता !आदर्श लेख है धन्यवाद

pkdubey के द्वारा
November 13, 2014

sadar sadhuvaad aadarneeyaa.aap vidushee ke aasheervaad kaa satat aakankshi.

jlsingh के द्वारा
November 16, 2014

अभी मैं जिस ट्रेन से वापस आ रहा था. ट्रेन के फर्श पर मूंगफलियों के छिलके, कागज, पॉलिथीन आदि बिखरे पड़े थे. एक लड़का झाड़ू लगाने के बाद जब पैसे मांगने के लिए हाथ बढ़ाया तो मेरे अलावा बाकी सभी खुदरा नहीं होने का बहाना बना लिए. चाय, पान, पाउच के लिए मूंगफली के लिए पैसे हैं पर… खुद के किये गए गन्दगी को साफ़ करने वाले बच्चे को देने के लिए पैसे नहीं हैं…..यह देश ऐसे ही चलेगा….एक कागज का टुकड़ा साफ़ करने के लिए शरद पवार की की पूरी फैमिली लग जाती है वह भी बेहतरीन झाड़ू/ब्रश के साथ. मीडिया में फोटो खिंचवाने के लिए और मोदी से प्रशंशा पाने के लिए…….शरद पवार और शशि थरूर …

pkdubey के द्वारा
November 17, 2014

sach ko vyakt kiyaa aap ne aadarneey.par is abhiyaan ko jan aandolan kaa roop lena bhee jarooree hai.sabhee sansad,vidhayak,school,organizations,sab milkar kuchh sudhar to ho hee sktaa hai.abhee to TV par bhee gandagee kaise failate hain,baad me bachche talee bajate ,uskaa ad aa rhaa hai.kuchh n kuchh badlaav bhee hogaa,ek achhchhee shuruaat to kee modi ji ne.bhale hee jhadoo par ab modi ne copyright kar liyaa ho,dekhte hain dillee kee jantaa kejreevaal kee jhadoo kaa kyaa kartee hai.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran